छात्रावास:पढ़ाई में फायदे या नुकसान?

छात्रावास का जीवन छात्र के जीवन का सबसे अच्छा हिस्सा माना जाता है। जिन लोगों ने इसका अनुभव किया है, वे यह मानते हैं और जो यह अनुभव नहीं ले पाए वे यह अनुभव लेना चाहते हैं । हॉस्टल जीवन अपने फायदे और नुकसान के साथ आता है। हॉस्टल जीवन दोस्तों, मस्ती और स्वतंत्रता से भरा है।यह छात्रों को हमेशा के लिए संजोने के लिए कई यादें देता है। एक छात्र जिसने हॉस्टल जीवन का अनुभव किया है, वह निर्णय लेने और विभिन्न चीजों के बारे में दृष्टिकोण बनाने में बेहतर है। हालांकि, छात्रावास के जीवन में कुछ निश्चित नुकसान भी होते हैं।

Dwdw

छात्रावास जीवन सम्पूर्ण जीवन में अनोखा स्थान रखता है।छात्रवासों का शिक्षालयो से निकटतम संबध होने के कारण इनका वातावरण बालक के व्यक्तित्व के विकास में सहायक होता है।छात्रावास से हर वर्ग एवं हर आयु के छात्र एक साथ रहते है।आर्थिक स्थितियों से उत्पन्न चारित्रिक विशेषताए छात्रावास में प्रवेश नही पाती क्योंकि एक साथ एक सा भोजन करते हुए ,एक से वस्त्र पहने हुए ,एक सी जीवन शैली होने के कारण सब छात्र एक दुसरे से भावनात्मक स्तर पर जुड़ जाते है।परस्पर सौहार्द ,मित्रता ,मदद आदि की भावना उनमे स्वभावत: शामिल हो जाती है।

धीरे धीरे छात्रावास में रहने वाले छात्र समय के पाबन्द एवं अनुशासित हो जाते है।अपनी व्यकितगत वस्तुओ को सम्भालकर रखना ,अपनी पढाई के लिए जागरूक रहना , अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना आदि बाते छात्रों की जीवनचर्या में समाहित हो जाती है।इनसे छात्रों में स्वावलम्बन एवं आत्मविश्वास की भावना आती है।छात्रावास पर छात्र पर किसी प्रकार का मानसिक दबाव पड़ने की सम्भावना नही रहती।वे स्वतंत्र वातावरण में सहज ढंग से विकसित होते है।घर में कई बार पारिवारिक तनावों का अप्रत्यक्ष प्रभाव बालको के विकास में बाधक होता है परन्तु छात्रावास में उन्हें अपने स्वतंत्र निर्णय लेने पड़ते है जिससे भविष्य में वे स्वस्थ्य जीवन व्यतीत करने में सक्षम हो पाते है।

How To Manage Study In Hostel

छात्रों के शारीरिक स्वास्थ्य के लिए नियमित व्यायाम कराए जाते है जो उनके तन-मन में स्फूर्ति का संचार करते है। विशेष प्रशिक्षको की देखरेख में प्रशिक्षण पाकर कई छात्र अपनी खेल प्रतिभा में निखार लाते है।शयन , विश्राम , व्यायाम एवं अध्ययन में उचित समन्वय स्थापित करने में छात्रावास का बहुत योगदान है।
कहा जा सकता है कि छात्रों के शारीरिक , मानसिक और बौद्धिक विकास के लिए छात्रावास में उचित प्रबंध होते है।

Screenshot 2020 07 22 00 16 17 84

आत्मविश्वास बढ़ाता है : छात्रों को विभिन्न परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है और छात्रावास में रहने के दौरान सभी प्रकार के लोगों से मिलते हैं। विभिन्न स्थितियों और वर्षों से लोगों के साथ व्यवहार करना उनके आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

6aaf8f325dff9db73405a8f37a8ca0dd

विभिन्न संस्कृतियों का परिचय: हॉस्टल में रहने के लिए विभिन्न सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के छात्र आते हैं। दिन और दिन में एक दूसरे के साथ रहना, छात्रों को उनकी संस्कृति और परंपराओं के बारे में पता चलता है।
लंबे समय तक चलने वाली मित्रता बनाता है: परिवार से दूर रहकर, होस्टल दोस्त एक-दूसरे की देखभाल करने के लिए हैं। वे समय के साथ एक दूसरे के साथ भावनात्मक जुड़ाव विकसित करते हैं। हॉस्टल वह जगह है जहां लोग लंबे समय तक दोस्ती और यादें हमेशा के लिए संजोते हैं।
नए कौशल सिखाता है: छात्रावास के छात्रों को अपने सभी कार्यों को अपने दम पर करने की आवश्यकता होती है। वे कई नए कौशल सीखते हैं जैसे कपड़े धोना, उन्हें इस्त्री करना, अपने कमरे की सफाई करना, अपनी किताबों को साफ रखना, बजट पर सामान खरीदना और यहां तक ​​कि खाना बनाना।

इन गुणों के साथ कभी कभी छात्रावास जीवन कुछ छात्रों में कुप्रुवृतियो को भी जन्म दे देता है।यदि छात्रावास में रहने के फायदे है तो कुछ नुकसान भी हैं:

परिवार से दूर रहना : परिवार से दूर रहना हर किसी के लिए मुश्किल है। कई छात्र अपने परिवार के साथ बिताए अच्छे समय की याद करते हुए कई बार बेहद भावुक हो जाते हैं। छुट्टियों के बाद छात्रों के लिए छात्रावास लौटना विशेष रूप से कठिन है।
पारिवारिक वातावरण में समायोजन में कठिनाई : जबकि शुरू में छात्र अपने परिवार से दूर रहने के विचार से भावुक हो जाते हैं, कुछ वर्षों के लिए छात्रावास में रहना अक्सर उनके लिए पारिवारिक माहौल में समायोजित करना मुश्किल हो जाता है। वे अपने स्वयं के निर्णय लेने और अपने तरीके से जीने के आदी हो जाते हैं कि वे अपने माता-पिता के किसी भी सुझाव को पसंद नहीं करते हैं और स्वतंत्र रूप से जीना चाहते हैं।

भोजन की गुणवत्ता : छात्रावासों में भोजन की गुणवत्ता बहुत अच्छी नहीं है। इसके अलावा कोई चारा नहीं है। छात्रों को वह खाने की जरूरत है जो उन्हें पसंद है या नहीं।

Mess And Hostel 500x500 1

देखभाल करने वाला कोई नहीं : बीमार पड़ना सबसे बुरा भाग है। हालांकि छात्रावास के दोस्त एक-दूसरे की देखभाल करने की कोशिश करते हैं, लेकिन वे माता-पिता की तरह देखभाल नहीं कर सकते। इस प्रकार, बीमारी से उबरने में अक्सर बहुत समय लगता है।

निष्कर्ष :
छात्रावास का जीवन लाभ और हानि दोनों प्रदान करता है। यह सब उस छात्र पर निर्भर करता है कि वह इससे कैसे निपटता है और वह छात्रावास में रहने से क्या सीखता है।

Comments

mood_bad
  • No comments yet.
  • chat
    Add a comment
    Close Bitnami banner
    Bitnami