Pixel code

विज्ञान:भूत,वर्तमान और भविष्य

ज्ञान सिर्फ अपने लिये है तो इसका कोई उपयोग नहीं है, बल्कि इसका उपयोग समाज के विकास के लिये होना चाहिए। यदि आप शिक्षित हैं तो आपकी शिक्षा का लाभ समाज के उन लोगों को भी जरूर मिलना चाहिए जिन लोगों को अभी तक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी का भरपूर लाभ नहीं मिल सका है।

विज्ञान हर नए अनुसंधान के साथ मानव जीवन को अधिक सरल बनाता चला जा रहा है। आज विज्ञान के बढ़ते चहुंओर विकास के कारण मानव दुनिया के हर क्षेत्र में अग्रसर दिखाई दे रहा है। मानव ने विज्ञान की सहायता से पृथ्वी पर उपलब्ध हर चीज को अपने काबू में कर लिया है। विज्ञान की सहायता से हम ऊंचे आसमान में उड़ सकते हैं व गहरे पानी में सांस ले सकते हैं।
वर्तमान समय में विज्ञान ने इतना विकास कर लिया है कि हमारा भविष्य पूरी तरह बदल गया है। विज्ञान ने हमारा भविष्य बहुत ही उज्जवल बना लिया है। प्राचीन काल में जहां मनुष्य पैदल या बैलगाड़ी से यात्रा करता था, अब वही हम बस, ट्रेन, हवाई जहाज, बुलेट ट्रेन, मेट्रो ट्रेन जैसे अत्याधुनिक साधनों से सफर करते हैं।विज्ञान की मदद से हमने शिक्षा, वास्तुशिल्प, स्वास्थ्य सेवाएं, यातायात, आधुनिक उपकरण, संचार, हथियार, दवाइयां, मशीनरी, रसायनों जैसे सभी क्षेत्रों में बहुत विकास किया है। अब हर व्यक्ति के पास कार, मोटरसाईकिल होती है। मनुष्य को विज्ञान का इस्तेमाल सकारात्मक कामों में करना चाहिए।

विज्ञान की मदद से कृषि उत्पादन में वृद्धि करके गरीबी को दूर किया जा सकता है। हमारे देश में यहां वहां गरीब लोग कूड़ा बीनते हुए दिखाई दे जाते है। इसके अलावा हर बड़े शहर में झुग्गी झोपड़ियां बस गई हैं जहां पर लोग बहुत ही कम जगह में रहने को मजबूर हैं।विज्ञान नई अवधारणाओं और चीजों को खोजता है और खोजता है विभिन्न वैज्ञानिक आविष्कार और हर दिन वैज्ञानिक प्रगति हमें बेहतर भविष्य के लिए आश्वस्त करती है जहां हम बेहतर तरीके से सोच और कार्य कर सकते हैं। विज्ञान हमें भविष्य में बेहतर बुनियादी ढांचे, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, सुरक्षा, चिकित्सा सहायता, आपातकालीन सेवाओं और बहुत कुछ दे सकता है यह भविष्य में हमें और अधिक टिकाऊ जीवन दे सकता है। हमारे स्वास्थ्य, शिक्षा और पूरे जीवन शैली, भविष्य में विज्ञान के कारण बेहतर बदलाव देख सकते हैं।

1q7jrt86fet3ayxdbspuppq

मानव जाति की निरंतर प्रगति के लिए विज्ञान आवश्यक है कुल मिलाकर, हम सभी विज्ञान की वजह से बेहतर भविष्य के जीवन की उम्मीद कर सकते हैं।
विज्ञान के बढ़ते हुए विकास के कारण ही हम चंद्रमा से लेकर मंगल ग्रह में पहुंच पाए हैं। हाल ही में भारत के मंगलयान का सफलता पूर्वक मंगल की कक्षा में पहुंचना मानव की विज्ञान के क्षेत्र में बढ़ रही प्रगति का उदाहरण है। पुरातन काल में जो चीजें असंभव सी प्रतीत होती थी। विज्ञान के बढ़ते उपयोग के कारण अब वह साधारण सी महसूस होती हैं।

विज्ञान ने अनेकों क्षेत्र में अपने झंडे गाड़े है।ऐसा कोई क्षेत्र नहीं जहां विज्ञान ना हो। कुछ ऐसे क्षेत्र जहां विज्ञान भूत से लेकर वर्तमान तक, और वर्तमान से लेकर भविष्य तक अपने कारनामे स्थापित किए है।

चिकित्सा के क्षेत्र में :

विज्ञान के नए नए शोधों के चलते मानव हर दिन एक नई मुसीबत से छुटकारा पा लेता है। 20 साल पहले मलेरिया जहां जानलेवा बीमारी मानी जाया करती अब विज्ञान की प्रगति के साथ मलेरिया एक आम बीमार बनकर रह गई हैं। विज्ञान ने चिकित्सा व्यवस्था में बहुत प्रगति कर ली है। पिछले सालों से लाइलाज बीमारी मानी जा रही एड्स पर भी वैज्ञानिकों ने धीरे-धीरे पकड़ बनाना शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि नई चिकित्सा पद्यति के चलते अब एड्स की पकड़ कमजोर पड़ने लगी है। और माना जा रहा है कि निकट भविष्य में इस जानलेवा बीमारी का जड़ से खात्मा हो जाएगा। 

यातायात के क्षेत्र में :

Transportation

आज विज्ञान यातायात के क्षेत्र में दिन दूना और रात चौगुना तरक्की कर रहा है। कहां पहले एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए दिनों लग जाते थे। अब हवाई जहाज और तेज रफ्तार की ट्रेनों के दौर में पलक झपकते एक जगह से दूसरी जगह पहुंचा जा सकता है।  जहां पहले आम लोगों के लिए ज्यादा किराया होने हवाई यात्रा करना मात्र एक सपना हुआ करता था। आज बदलते दौर के साथ आम लोग भी हवाई यात्रा
का किराया वहन कर पाते हैं और हवाई यात्रा का आनंद उठा पाते हैं। पिछले दस सालों में भारत के लगभग हर घर में कार पहुंच गई है जो विज्ञान की प्रगति को सीधे तौर पर बयां करती है। 

संचार के क्षेत्र में :

20170801042352118

ऑनलाइन न्यूजपेपर, ऑनलाइन न्यूजसाइट पर एक क्लिक पर खबरों का संसार मौजूद है। वैश्वीकरण के इस दौर में दुनिया के चप्पे-चप्पे की खबर हम अपने मोबाइल की एक बटन दबाते ही जान लेते हैं। फेसबुक, ट्विटर, वाट्सऐप के सहारे चाहे हम अपने सगे संबंधियों से कितने ही दूर क्यों न हों। पर इन सबके माध्यम से अब हम उनसे 24 घंटे जुड़े रह सकते हैं।  

निष्कर्ष : इस प्रकार विज्ञान के नित नए अविष्कार हमारे जीवन में रोज चमत्कार उत्पन्न कर रहे हैं। हर दिन एक नई खोज, नए उत्पाद से हमारा परिचय होता है जो हमारे जीवन की जटिलता को सरल बना रहे हैं। 

Comments

  • Acrocky
    September 2, 2022 at 3:27 am

    Unlike traditional ED pills, chewables aren t made directly by drug companies in the U cialis online without Tadalafil pharmacokinetics were best summarized by means of the ISA, based on parameter values for all individuals in 13 clinical pharmacology studies that had received single 10-mg or 20-mg doses in the fasted state Table 3

  • exerway
    September 8, 2022 at 5:06 pm

    All central and peripheral mechanisms are probably important but the particular role that each plays in delaying ejaculation is not known cialis buy online usa

  • icossiday
    September 14, 2022 at 10:23 am
  • Diugssomo
    September 18, 2022 at 2:58 pm

    12 for Streptococcus anginosus group. doxycycline dosage for chlamydia For at least 2 hours after taking the tablets do not eat or drink anything except water.

Add a comment